ट्रिप के दौरान आदर्श अंकल के साथ


sex stories in hindi, antarvasna

मेरा नाम सुरभि है मैं मुंबई की रहने वाली हूं, मेरे पिताजी मुंबई में ही एक सरकारी विभाग में काम करते हैं। मैं कॉलेज में पढ़ रही हूं, मेरा कॉलेज का यह आखिरी वर्ष है। मेरे पिताजी अपने काम में काफी व्यस्त रहते हैं इसलिए वह हम लोगों को ज्यादा समय नहीं दे पाते परंतु एक दिन उन्होंने कहा कि क्यों ना हम लोग कहीं घूमने का प्लान बना ले, मैंने अपने पिताजी से कहा मेरी कुछ दिनों बाद ही छुट्टियां पड़ जाएंगे तो उसके बाद हम लोग कहीं घूमने चल पड़ते हैं। वह कहने लगे ठीक है मैं कुछ समय बाद घूमने का प्लान बना लेता हूं और उसके बाद हम लोग कहीं घूमने के लिए चल पड़ेंगे। मैंने अपने पिताजी से कहा ठीक है यह तो बहुत अच्छी बात है यदि आप कहीं घूमने का प्लान बना रहे हैं, काफी समय हो चुका है जब हम लोग कहीं घूमने नहीं गए। मेरी मां भी बहुत खुश थी और वह कहने लगी कि यह तो आपने बहुत ही अच्छी बात कही क्योंकि हम लोग पिछले दो सालों से कहीं भी साथ में नहीं गए हैं।

मैं घर में इकलौती हूं इसीलिए मेरे माता-पिता ने मुझे कभी भी किसी भी प्रकार की कोई भी कमी नहीं होने दी और मुझे अच्छे कॉलेज में पढ़ा रहे हैं। मैं हमेशा की तरह ही कॉलेज जाती थी और कुछ दिनों बाद हमारे कॉलेज की छुट्टियां पड़ गई। मैंने अपने पापा से कहा कि अब हमारी कॉलेज की छुट्टियां पड़ चुकी हैं यदि आप घूमने के लिए कोई जगह बता दें तो वहीं हम लोग घूमने के लिए चलेंगे। मेरे पिताजी कहने लगे कि हमारे ऑफिस में ही एक मेरे मित्र हैं, हालांकि वह मुझसे छोटे हैं लेकिन उनका और मेरा काफी अच्छा रिलेशन है,  उनका नाम आदर्श है। वह भी मुझसे कह रहे थे कि हम लोग कहीं घूमने के लिए चलते हैं, मैंने उन्हें कहा कि क्यों ना हम लोग गोवा चले, गोवा हमारे यहां से नजदीक भी पड़ेगा और हम लोग वहां इंजॉय भी करेंगे क्योंकि मौसम भी इस वक्त काफी अच्छा है। मैंने अपने पिताजी से कहा यह तो बहुत अच्छी बात है यदि आप गोवा का प्लान बना रहे हैं तो। हम लोग गोवा जाने की तैयारी करने लगे, मेरे पिताजी और आदर्श अंकल ने सब कुछ बुक कर लिया था, उन्होंने रहने के लिए होटल भी गोवा में बुक कर लिए थे और हम लोग ट्रेन से ही जाने वाले थे।

मैं बहुत ही खुश थी और काफी समय बाद मैं अपने माता पिता के साथ कहीं घूमने के लिए जाने वाली थी। हम लोगों की ट्रेन सुबह के वक्त थी और हम लोग सुबह ही अपने घर से रेलवे स्टेशन के लिए निकल पड़े। जब हम लोग रेलवे स्टेशन पहुंचे तो मैं आदर्श अंकल और उनकी फैमिली से मिली, मैं पहली बार ही उनसे मिली थी और उनकी उम्र करीबन 40 वर्ष के आसपास की होगी। उनकी फैमिली से मिलकर मुझे बहुत अच्छा लगा, उनकी फैमिली में उनकी पत्नी और उनके दो छोटे बच्चे हैं, जिनकी उम्र 12 15 वर्ष के बीच है। हम लोग ट्रेन का इंतजार कर रहे थे और जब ट्रेन आई तो हम लोग उसके बाद ट्रेन में बैठ गए, हम लोग जब ट्रेन में बैठे हुए थे तो सब लोगों को नींद आ रही थी और मुझे भी काफी नींद आ रही थी क्योंकि रात भर मैं अच्छे से सो नहीं पाई थी,  उसके बाद मैं भी बहुत गहरी नींद में सो गई। जब मैं उठी तो मेरे माता-पिता, आदर्श अंकल और उनकी पत्नी आपस में बात कर रहे थे। उनके दोनों बच्चे सो रहे थे और मैं उठकर बाथरूम में चली गई, बाथरूम में मुंह धोने के बाद मैं अपने माता पिता के साथ बैठ गई। आदर्श अंकल मुझसे कहने लगे कि क्या तुम चाय पीओगी, मैंने उन्हें कहा कि हां मैं चाय पिऊंगी। उसके कुछ देर बाद हम लोगों ने चाय का आर्डर किया और हम लोग चाय पीने लगे, उस वक्त करीबन 11 बज रहे थे। हम लोगों का सफर बहुत अच्छे से कट गया और जब हम लोग गोवा पहुंचे तो वहां से हम लोगों ने होटल के लिए कार बुक कर ली फिर हम लोग होटल में ही फ्रेश होने लगे।  मुझे बहुत अच्छा लग रहा था, मैं बहुत खुश थी। जब हम लोग फ्रेश हो गए तो उसके बाद हम लोग अपने होटल के ही थोड़ा दूर घूमने चले गये, हम लोग पैदल पैदल ही घूमने के लिए निकल गए। आदर्श अंकल मुझसे पूछने लगे की क्या तुम पहली बार गोवा आयी हो, मैंने कहा कि हां मैं पहली बार ही गोवा आई हूं, इससे पहले मैं कभी भी गोवा नहीं आई। उनकी पत्नी ने मुझसे पूछा कि तुम्हें यहां आकर कैसा लग रहा है, मैंने कहा कि मुझे तो बहुत अच्छा लग रहा है क्योंकि काफी समय से हम लोग भी कहीं घूमने नहीं गए थे।

मेरी मम्मी भी कहने लगी कि हां हम लोग काफी समय से घूमने के लिए नहीं गए थे इसीलिए हम लोगों ने घूमने का प्लान बनाया। अब हम लोग बात करते करते काफी आगे निकल गए और हम लोग बीच के किनारे पहुंच गए। काफी देर तक हम लोग बीच के किनारे ही बैठे रहे। उसके बाद हम लोग वापस अपने होटल में लौट गए, उस वक्त काफी रात हो चुकी थी। हम लोग होटल में ही बैठे हुए थे और हम लोग बात कर रहे थे, मैं भी अपने दोस्तों को फोन कर रही थी और उन्हें बता रही थी कि हम लोग गोवा में बहुत इंजॉय कर रहे हैं। मैंने अपने दोस्तों को भी फोटो भेज दी। सब लोग सो चुके थे लेकिन मुझे नींद नहीं आ रही थी और मैं अपने कमरे से बाहर आ गई, उसके बाद मैं होटल के टेरिस में घूमने लगी। मैं टेरिस में घूम रही थी और उसी वक्त आदर्श अंकल टेरिस पर आ गए वह कहने लगे कि क्या तुम्हें नींद नहीं आ रही है। मैने उन्हें कहा नहीं मुझे नींद नहीं आ रही इसलिए मैं छत पर आ गई। आदर्श अंकल ने भी सिगरेट निकाली और वह सिगरेट पीने लगे जब वह सिगरेट पी रहे थे तो उनका धुंआ मेरे मुंह की तरफ आ रहा था। जब उनकी सिगरेट खत्म हुई तो उन्होंने सिगरेट को नीचे फेंका तो वह मेरे पैर पर आकर गिर गई और मेरा पैर जल गया।

उन्होंने जल्दी से मेरे पैर को पकड़ लिया और उसे अपने हाथ से मालीस करने लगे। जब वह अपने हाथों से मेरे पैरो पर रगड रहे थे तो मुझे भी अंदर से एक अलग ही प्रकार की उत्तेजना आने लगी थी। मैंने भी अपने दोनों पैरों को चौड़ा कर लिया जिससे कि उनके अंदर की भी उत्तेजना जागने लगी। उन्होंने मेरे स्तनों को दबाना शुरू कर दिया उन्होंने बड़े अच्छे से मेरे स्तनों को दबाया। उसके बाद उन्होंने मुझे पूरा नंगा कर दिया जब मैंने उनके लंड को देखा तो मुझे बड़ा अच्छा लगा और मैंने उनके लंड को अपने मुंह में लेकर सकिंग करना शुरू कर दिया। उनसे बिल्कुल भी नहीं रहा गया और मेरी योनि पूरी गीली हो चुकी थी। जैसे ही आदर्श अंकल ने मेरी योनि में अपने मोटे और कड़क लंड को डाला तो मुझे बहुत दर्द महसूस हुआ और मेरी चूत से खून की पिचकारी उनके लंड पर जा गिरी। उनका 9 इंच मोटा लंड मेरी योनि के अंदर तक जाता तो मुझे बहुत दर्द महसूस होता। वह मेरी चूत के अंदर अपने लंड को डाले जा रहे थे और मुझे बहुत अच्छा महसूस हो रहा था। वह अपने लंड को अंदर बाहर कर रहे थे तो मेरी योनि से बहुत ही चिपचिपा पदार्थ बाहर की तरफ को  आने लगा। कुछ देर उन्होंने मुझे ऐसे ही चोदा उसके बाद उन्होंने मुझे घोड़ी बना दिया और घोड़ी बनाते ही उन्होंने मेरी योनि के अंदर अपने लंड को डाल दिया। जैसे ही उनका लंड मेरी योनि में गया तो मुझे बड़ा दर्द महसूस हुआ उन्होंने मेरे चूतड़ों को कसकर पकड़ लिया और बड़ी तेज गति से झटके दिए उन्हें बहुत अच्छा महसूस होता। मुझे बहुत ज्यादा दर्द हो रहा था लेकिन वह मुझे ऐसे ही चोदने पर लगे हुए थे। कुछ देर बाद मेरी चूतडे पूरी लाल हो गई और मुझे बहुत महसूस होने लगा लेकिन मुझसे भी नहीं रहा जा रहा था। ऐसे ही झटको के बाद जब उनका माल मेरी योनि के अंदर गिरा तो मुझे बड़ा अच्छा महसूस हुआ और उन्होंने अपने लंड को मेरी योनि से बाहर निकाल लिया। हम दोनों साथ में ही घूमते रहे मैंने नंगी टेरिस में घूम रही थी और उनका माल मेरी योनि से बाहर की तरफ गिर रहा था। हम लोग जितने दिन होटल में रुके उतने दिन उन्होंने मुझे चोदा। उसके बाद वह मुझे अभी भी बहुत अच्छे से चोदते हैं मैं भी कभी-कभार अपनी नंगी तस्वीरें  आदर्श अंकल को भेज देती हूं। वह भी मुझे अपनी नंगी तस्वीर भेजते हैं मुझे बहुत अच्छा लगता है जब मैं उन्हें नंगी तस्वीर भेजती हूं।


error:

Online porn video at mobile phone


choot marne ki storyचुदाइ बिबि कि सभी लोगो सेschool ki chudai storychut ki lambaihindi nangi blue filmhindisaxystoryxxx hindi sexiचुत लंड जबरदसत कहानीapni boss ko chodaspecial chudai kahanidevar ki kahanilund sex chutbaap beti sex story hindiakeli bhabhichudai ki dardnak kahanibhabhi devar chudai kahaniphoto chudai kahanihot hindi adult storyantarvasna rokgundu storiesmaa ke chut mareantsrwasnachudai ki kahani hindi me freechudai bhabhi photoaunty gand maridesi girl sex storykahani behan ki chudaiwww hindi sex storis comsex istori hindilund wali ladkididi ki chodai storyrakha ki chutgandi kahania with photochut ki lalipron story hindisavita bhabhi ki chudai hindi sex storychudai kutiya kichut land ki baatदेशी चुदाई किफिलमmaa bete ki chudai ki dastankhullam khulla chudha chudhayaantrawsanajangle xxxjija saali chodai khaniyakamukta hindi sex videoपारिवारिक चुदाई देशीदेसी लाॅज मे सेक्स चुदाईchoti bahanhindi sexy audio kahaniharami bhabhima.ne.mera.land.cusaindian chudailund chut ki hindi kahaniyanew bhai behan chudai storysavitha bhabhi ki chudaisex hot nightnew hindi pronjija sali sex story in hindigarib aurotoki chudai ki hindi kahaniantarvasan hindi storyhindi me sexhindi x story with photodesi bhabhi ki chudai story in hindichut lund ke kahaniyakanwari chutindian bhabhi beegchoot rasschool ladki ki chutbhai behan ki chudai kahani hindiताई आंटी की चुत भागchoot ki chudaihindi mein sexchut ki gandteacher or student ki chudaichachi sex story in hindibade doodhpyar sexchachi ki gaand maridhongi sadhuvery sexy kahanihindi sexy story with sistersonu ki chudaijigalohindi