सीनियर लड़कियों ने रैगिंग ली


हेल्लो दोस्तों | कैसे हैं आप लोग | मेरा नाम मंदीप है और मैं राजस्थान के जयपुर से ताल्लुक रखता हूँ | मेरी उम्र 20 साल है और मैंने कुछ दिन पहले ही मेडिकल की परीक्षा पास करके दिल्ली के एक मेडिकल कॉलेज में एडमिशन लिया है | चलिए दोस्तों अब मैं देर न लगते हुए सीधा कहानी पर आता हूँ |
तो हुआ यूँ की एडमिशन लेने के बाद मैं जब कॉलेज आया तो ये दुनिया मेरे लिए एकदम नई थी | स्कूल और कॉलेज की ज़िन्दगी में जमीन और आसमान का फर्क है | मेरे मेडिकल कॉलेज में लड़कों से ज्यादा लड़कियां हैं | एक बात और की यहाँ लड़के लड़कियों के हॉस्टल में आ-जा सकते हैं | एक दिन की बात है की मैं अपनी एक दोस्त से कुछ नोट्स लेने उसके हॉस्टल में गया | वक़्त की कोई पाबन्दी नही है इसीलिए मैं लगभग रात के नौ बजे गया था | उसके रूम पर गया तो देखा की ताला लगा हुआ है | शायद वो कहीं गयी होगी | मैंने वापस आने लगा | फर्स्ट इयर का था इसीलिए शकल से ही सीधा साधा दीखता था | अचानक से मुझे लड़कियों का ग्रुप मेरी तरफ आता दिखाई दिया | अभी मैं हॉस्टल के अंदर ही था | मैंने कोशिश की साइड से निकलने की लेकिन उस लड़कियों के ग्रुप ने मुझे घेर लिया | वो सारी फाइनल इयर की लड़कियां थीं | मैंने बोला सॉरी मैडम, मैं बस नोट्स लेने आया था | उन्होंने बोला अरे हम कौन सा कुछ कह रहे हैं | हम तो बस तुम्हारी रैगिंग लेने आये हैं | इतना कह कर वो लोग मुझे एक कमरे में ले गयीं और दरवाजा अन्दर से बंद कर दिया | वो पांच लड़कियां थीं और हॉट भी थीं | मैंने देखा की कमरे के एक कोने में एक डिलडो पीडीए हुआ था | मैं समझ गया की आज मेरीविर्गिनिटी जाने वाली है | उन लड़कियों में से एक मेरे पास आई और सीधा बिना कुछ बोले मेरे कपडे उतारने लगी | मैं दर के मारे पीछे हटने लगा तो बाकी लड़कियां भी मेरी तरफ आने लगीं | अब मेरे पास और कोई चारा नही था इसीलिए मैंने पहली लड़की को अपने कपडे उतारने दिए | अब मेरे बदन पर कपडे का एक रेशा भी नही था | मुझे शर्म आ रही थी इसीलिए मैंने दोनों हाथों से अपने लंड को छुपा रखा था | मुझे ऐसा करते देख आकर उनमे से एक लड़की बोली की लड़के को शर्म आ रही है | एक काम करो लड़कियों, तुम लोग अपने अपने कपडे उतर दो ताकि इसकी शर्म दूर हो | उसके बाद उन पाँचों लड़कियों ने भी अपने अपने कपडे उतर दिए | ज़िन्दगी में मैं पहली बार किसी जवान लड़की को नंगा देख रहा था वो भी एक नही, पांच-पांच | मेरा लंड अब खड़ा होने लगा था | उन लड़कियों में से एक बोली “क्यूँ शर्मा रहा है अब? अब तो तूने हमारी चूत और हमारे दूध भी देख लिए | चल अब जल्दी से अपना लंड दिखा | बहुत दिनों से कोई ढंग का नया लंड नही मिला है” |उसके ऐसा कहने के बाद मैंने अपना हाथ हटा लिया | मेरे 6 इंच के खड़े लंड को देख कर वो सब लड़कियां खुश हो गयीं | अब उन्होंने मुझे बीएड पर लेटने को कहा | मैं लेट गया | अब उनमे से एक लड़की मेरा लंड चूसने लगी और एक मेरे मुंह पर बैठ गयी | मैंने उसकी चूत को अपनी जीभ से चाटना शुरू कर दिया | ज़िन्दगी में पहली बार ऐसा मौका मिला था मुझे और वो भी पांच लड़कियों के साथ | मैंने अपनी जीभ से उसके चूत के दाने को मसलना शुरू कर दिया | जो लड़की मेरा लंड चूस रही थी उसने एक लड़की को और बुला लिया और वो दोनों बारी बारी से मेरा लंड और मेरे टट्टे भी चाटने लगीं | बाकी बचीं दोनों लड़कियां मेरे बात से अपनी चूत में ऊँगली करवा रही थीं | थोड़ी देर बाद उन लड़कियों ने अपनी पोजीशन बदल ली और अब अलग लड़की मुझसे अपनी चूत चटवा रही थी और अलग लड़की मेरा लंड चूस रही थीं | जिस लड़की की चूत चाट रहा था वो जोश में आकर आआआआ आःह्ह्हा अआः ऊऊउ ऊ उ उ ऊऊऊ उ ऊ ईईईई इ इ ई ईई इ ईईई ई इ चिल्लाने लगी | थोड़ी देर बाद उनमे से एक लड़की ये और मेरे लंड पर बैठ गयी | अब मैंने उसकी चूत को चोद रहा था | मुझे मजा आ रहा था | अब मुझमे थोड़ी हिम्मत आई और मैं उठ गया और लड़की को लिटा कर उसकी चूत में अपना लंड घुसेड दिया | साड़ी लड़कियां एक साथ बोल पड़ीं “वाह चीते” | मैंने अब उस लड़की की चूत चोदे जा रहा था | थोड़ी देर की चुदाई के बाद वो थक गयी तो मैंने बोला की आ जाए जिसको अपनी चूत का भरता बनवाना है | अब दूसरी लड़की आ गयी और अपनी चूत मुझसे चुदवाने लगी | मैंने चुदाई की स्पीड बढ़ा दी तो वो चिल्ला पड़ी और आआ आआआअह्ह ह्हहह्हा हा हा हा हा अह अह्हह अह अह अह अहहाह अह अह अह अहः हा हा हा हा अहहहहहः हा हा हा हा हा हा हा हा हहहह्हः अह अह्हहहः आहा अह अह अह्हहः हा हा हा अह अहह्हहः अह अह अहह्हहहाह हाहा हहा अह अह अह अह अहहहः अह आहा ह अहः अह अह अह अह अहहह्हा हा हा अह आहा हा हा हा हा हा अह अह अह हाहाहाह ऊऊउ उ उ ऊऊ ऊ उ उ उ उ उ ऊ उ उ उ उ इ ईईइ इ इ ईई इ करने लगी | उसकी ऐसी मादक सिसकियाँ सुनकर मेरा जोश और बढ़ रहा था | मैंने कहा की मुझे गांड मारने का मन कर रहा है | है किसी की हिम्मत जो अपनी गांड को मेरे लंड के हवाले कर सके ? मेरे ऐसा कहने के बाद उनमे से एक लड़की आई और बोली “आज देख ही लेती हूँ की तेरे लंड में कितना दम है” | मैं भी तैयार था | मैंने बिना तेल लगाये ही उसकी गांड में एक ही झटके में अपना लंड उतर दिया | वो चिल्ला पड़ी और उसमे मुंह से ऊऊऊऊऊऊऊ ऊऊ ऊऊउ ऊ ऊ ईईइ इ ईईइ इ इ ई ई इ इ इ ईईईईइ ऊऊऊऊ ऊऊऊऊऊ ईईईईइ आआअह्ह्ह ह्ह्ह्हह हह ह ह हह ह ह मार दिया आःह्ह ह्ह्ह्ह हह ह ह ह हह ऊऊ निकलने लगा | मैंने कहा “फट गयी क्या?” | वो हाँ बोली और मेरे लंड को अपनी गांड से निकल कर साइड में जाकर कराहने लगी | अब मैंने दूसरी लड़की को चैलेंज किआ और उसकी गांड में ऊँगली करने लगा | ऊँगली डालते ही उसके मुंह से आआ आःह आया अआः आआहहह अहह्हः हा हा हाहा हा हां आआ आआआ निकलने लगा | मैंने आव देखा न ताव, सीधा अपना लंड उसकी गांड में उतार दिया | पिछली लड़की की तरह इसकी भी गांड का वही हाल हुआ लेकिन ये थोडा झेल गयी | अब मैं इसकी गांड मारे जा रहा था और वो मस्ती में दर्द को झेल्ते हुए आआआअह ह्ह्ह ह ह ह्ह्ह्हह ह ह ह ह ह्ह्ह ह ह ह हह ऊऊ ऊऊऊऊ उ ऊऊईई ई ईईइ ई इ इ इ इ इ ईई आआ आःह अह हाह हा हहह्हा हा हा हां हा हा हा हा अहू ऊईईई ई ईईइ ई इ इ इ इ इ ईई इ ई ईई इ इ इ ई ईईइ करने लगी | मुझे ऐसा करता देख सारी लड़कियों को जोश आ गया और वो एक लाइन से ओई चूत और गांड बिछा कर बिस्तर पर लेट गयीं | अब मैं बारी बारी से पाँचों लड़कियों की चूत और गांड को चोदने लगा | समां एकदम मदमस्त था और पुरे कमरे में बस चुदाई ही चुदाई थी हर जगह | मैंने चोदना जारी रखा और उन लड़कियों ने चुदवाना | तभी उनमे से एक बोली की मेरा हो गया | मैंने कहा बस? वो बोली हाँ | उसके बाद धीरे धीरे सभी लड़कियां थक गयीं और सभी का निकल गया | मेरा माल निकलना अभी बाकी था | लास्ट वाली लड़की की गांड में अपना लंड डालकर मैंने पुरे जोर से चोदना चालू कर दिया | वो मस्ती में आआ आआआआ आःआ आआ ऊऊ ऊऊ ऊऊउ उ उ ऊऊऊ ईई ईईइ ईई ई ईईइआ अ अ आह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह ह ह्ह्ह्ह ह्ह्ह हह ह ह ह हह ह आःह्ह्ह ऊऊउ ऊऊ उ ऊऊ ईईइ इ ईई इ इ ईईइ करने लगी | मैं उस लड़की पर खुश हो गया और बोला की गर्लफ्रेंड बनेगी मेरी ? वो तुरंत बोली की ऐसे लंड को कौन मना करेगा | मैंने बोला की ले, तुझे ही देता हूँ मैं अपना बेशकीमती माल | बता मुंह में लेगी या चूत में या फिर गांड में ? वो बोली मुंह में | मैंने हामी भर दी और फिर उसे बैठने के लिए बोला | वो बैठ गयी और अब मैंने उसके मुंह पर अपना माल गिरना शुरू कर दिया | धीरे धीरे वो मेरा सारा माल पी गयी |
दोस्तों, वो लड़की आज भी मेरी गर्लफ्रेंड है और आज भी हम जोरदार चुदाई करते हैं | कभी कभी जब उसकी सहेलियां जिद करती हैं तो हम ग्रुप सेक्स करते हैं और मैं उसकी सहेलियों को भी चोदता हूँ |


error:

Online porn video at mobile phone


dost se chudaiबदमास औरत कि अतरवासनाchoda bhabi komoti moti gaandaunty ki hot chutdesimurga storiesaapki bhabhispecial chudaijija sali ki chudai ki photowww hindi desi chudai comhindi sexy stoorychut me lund storykutte waliपापा से चुदाई कहानीromantic hindi sex storywww hindi sex khaniyaHot khaniya pyasi madam college ki gaandchut me khujlididi ki chudai ki storygay sex hindichut ko faad diyabehan ki beti ki chudaididi ki bathroom me chudaistoryजीजू ने रात को छुड़वायाMasuum Lady ki chudai ki khanibhabhi ki khaniyachudai ki kahani pic ke sathxxx sister comhindi gandi chudai ki kahanibhabhi chudai ki kahani hindibhabhi se sexhindi antarvasna kahanichudai sexy hindi storyhinde xxx sexchut kaise phadebahi bahan cudai kahnehttps://africanfull.site/documents/sauteli-maa-ko-pakad-ke-choda/hot hindi antarvasnamastram ki hindi chudaimere teacher ne chodadesi kahani inbehan bhai shayarichudai story kahaniSister aur teacher ko aksath school me chodad antarvasna.compapa ne ki chudaichoot ki storihindi sex story for bhabhisex bhabi with devarchut ma lundbahan ki chudai bhai sebhaine bahan ko khula kar choda sexi kahaniyateacher chutरसिली कि चूदाई मस्त राम कहानीdevar aur bhabhi ka sexfree indian sex story hindikahaninangichudaikhet me aunty ki chudaisex latest story in hindichudai hot kahanisex stories in hindi with picsmaa ki chudai garmi meteacher aur student ki chudaichudai ki khaniyan in hindiaunty ne sikhaya chodnahindi sex story pdf downloadlesbian sex taleschudai story suhagratmaa beti ki chudai kahanimaa bete ki sex kahanibaap bhai ne chodadesi sexy story comdesi lund chudaihindi sexi kahaniyachudai ki kahaniya in hindi font audioXxx khaniya choti bhan ko jabrjasti chod ke bur se khun nikal diyawww com xxx hindiporn comics hindi